Search This Blog

Wednesday, 14 January 2015

मुझको मेरे बाद याद ना करना।

ना आसु बहाना, ना सिसकियाँ भरना,

ना मातम ही तुम करना,

बाद मेरे तमाशा ना करना,

अफसाना समझ भुल जाना।

मुझको मेरे बाद याद ना करना।

दिये रोशन करना मुहब्बत के,

शंमा प्यार की जलाए रखना,

दिलो में जो नफरत है भुला,

हर दुरी मिटा देना।

एक से हो, एक हो जाना,

तुम फिर पहला सा जहां बना लेना।

मुझको मेरे बाद याद ना करना।

खौफजदा खौफ से कब तक रहोगे,

बेखौफ हर खौफ मिटा देना।

किसी दुआ का असर है,

हर दर्द दवा समझ पी जाना।

मुझको मेरे बाद याद ना करना।