Search This Blog

Saturday, 2 August 2014

love इशक




  अपनी यादों से भुलाउ कैसे,

   नाम दिल से तेरा मिटाउ कैसे,

    तेरा मिटाउ कैसे,

   रूह मे अहसास बन बसी है तु

    रूह से जुदा करू कैसे,

    चाँद सितारो मे,इन नजारो मे,तु ही नजर आए।

  हवाऔ मे ठंडी फुहारो,तु ही सिमट आए,

  रोम रोम हुस्न समाया तेरा,

  कैसे कह दु मुहब्बत नही है मुझको,

 मेरी साँसों मे हर पल जिक़ समाया तेरा।