Search This Blog

Saturday, 2 August 2014

prayer

पत्थर को तराशा तो भगवान हो गया
,भगवान को पुजा तो बन्दा महान हो गया,
मैया तुने कमाल कर दिया।
दरबदर जो ठोकर ख़ा रहा था,
धुप मे बदन जला रहा था,
दर पर दस्तक दी जो उस फ़कीर ने,
वो फ़कीर बादशाह हो गया।
मैया तुने कमाल कर दिया।
पैबंदो से जिसका सजा था कुर्ता,
पैंरो मे जिसके फटा था जुता,
हाथो मे जिसके थे छाले,
ताने देते थे जिसको नसीब वाले,
दरपर दस्तक दी जो उस फकीर ने वो बादशाह हो गया।
फाको से जिसकी थी दोस्ती
,भीड मे खो गई थी
 जिसकी हस्ती
,नासाज जो साज था,
बेआस जो आस थी
,दरपर दस्तक दी जो उस फ़कीर ने,
सन्दीप वो नुर रूहानी हो गया,
मैया तुने कमाल कर दिया।