Search This Blog

Thursday, 11 September 2014

माँ की परिभाषा



माँ की परिभाषा




शब्द का सार,

भाषा का ज्ञान माँ ।

जीवन पथ की राहो की,

परिभाषा एक आशा है माँ।

अनहद नाद, एक फरियाद,

पावन शीतल ठंडी फुहार,

निर्मल बहती जल धारा,

माँ एक वयावहार

इक त्योहार है माँ,

माँ इक उमंग,

 माँ इक तरंग,

माँ की दुआ खुदा की मर्जी,

माँ मंदिर,

माँ मस्जिद,

माँ पुजा और इबादत,

एक लोरी,

ख्वाबों की भाषा है माँ,

माँ की बोली,

मीठी जैसे बताशा,

माँ अमृत,

अमृत की धारा है माँ,

माँ सुरज,

माँ चंदा,

आसमान मे चमकता तारा,

माँ करम,

माँ धर्म,

माँ जीवन का पुण्यकरम,

माँ राधा माँ दुर्गा,

तुलसी का कोई नाम है दुजा,

माँ अनुराग,

माँ दुलार,

माँ इक छाया,

माँ है साया,

माँ सा दुजा और न कोई,

माँ के चरणकमलों मे,

है मेरी वंदना।